भारत में खाद्य सुरक्षा- Class 9th Economics Chapter- 4th ( Food Security in India ) Notes in hindi

भारत में खाद्य सुरक्षा- Class 9th Economics Chapter- 4th  ( Food Security in India ) Notes in hindi

1- खाद्य सुरक्षा से क्या अभिप्राय है ?

खाद्य सुरक्षा सभी अभिप्राय सभी लोगों के लिए सदैव भोजन की उपलब्धता पहुंच और उसे प्राप्त करने का सामर्थ्य से है।

2- बफर स्टॉक किसे कहते हैं ?

बफर स्टॉक से अभिप्राय भारतीय खाद्य  निगम के माध्यम से सरकार द्वारा अनाज, गेहूं और चावल के भंडार को बफर स्टॉक कहा जाता है।

3- सार्वजनिक वितरण प्रणाली किसे कहते हैं ?

भारतीय खाद्य निगम द्वारा अभी प्राप्त अनाज को सरकार विनियमित राशन की दुकानों के द्वारा समाज के गरीब वर्गों में बांटती है इसे ही सार्वजनिक वितरण प्रणाली कहते हैं।

4- मौसमी बीमारी क्या होती है ?

जब खेतों में फसल पकने और फसल कटने के 4 महीने तक किसानों को कोई काम नहीं होता तो मौसमी भुखमरी की स्थिति पैदा हो जाती है

5- दीर्घकालिक भुखमरी किसे कहा जाता है ?

जब आहार की मात्रा दिन प्रतिदिन कम होती जाती है या गुणवत्ता के आधार पर कम होती जाती है

6- कुछ सहकारी समितियों के उदाहरण दीजिए ?

तमिलनाडु में राशन की दुकान है और दिल्ली में मदर डेयरी इसी प्रकार गुजरात में अमूल सफल यह सभी सहकारी समितियों के उदाहरण है।

7- भारत में सबसे भयानक अकाल कब पड़ा था ?

भारत में सबसे भयानक अकाल 1943 में बंगाल में पड़ा था इस अकाल के कारण वहां के 30 लाख लोग मारे गए थे

8- सामान्य वर्ग कब खाद्य असुरक्षा से ग्रस्त हो सकते हैं

जब भूकंप, सूखा, बाढ़, सुनामी, इस प्रकार की स्थिति उत्पन्न होती है तभी सामान्य लोग भी खाद्य सुरक्षा से ग्रस्त हो सकते हैं

9- भारत में खाद्य सुरक्षा कैसे सुनिश्चित की जाती है ?

 भारत में खाद्य सुरक्षा निम्नलिखित प्रकार से सुनिश्चित की जाती है
1- हरित क्रांति के पश्चात देशभर में उपजाई जाने वाली अलग-अलग प्रकार की फसलों से भारत खदानों के मामले में आत्मनिर्भर हो गया है
2- बफर स्टॉक
3- सार्वजनिक वितरण प्रणाली

10- हरित क्रांति का खाद्य सुरक्षा पर क्या प्रभाव पड़ा ?

1- हरित क्रांति ने भारत को खाद्यान्न में आत्मनिर्भर बना दिया
2- हरित क्रांति के आने के बाद से मौसम की विपरीत दिशाओं के दौरान भी देश में अकाल नहीं पड़ा
3- अनाज का उत्पादन बढ़ने के कारण अनाज की उपलब्धता सुनिश्चित हो गई

11- राशन की दुकानों को चलाने में कौन-कौन सी समस्याएं आती है ?

राशन की दुकानें चलाने में इस प्रकार की समस्याएं आती है
1- राशन की दुकानों पर घटिया अनाज की बिक्री
2- राशन की दुकाने उचित समय पर ना खुलकर कभी कभार खुलती है
3- राशन की दुकान चलाने वाले लोग ज्यादा लाभ कमाने के लिए अनाजों को खुले बाजार में बेचते हैं

VIDEO WATCH

ASK ANY QUESTION CLICK HERE

What's Your Reaction?

like
8
dislike
5
love
5
funny
3
angry
2
sad
5
wow
1