दिव्यांगों के लिए शारीरिक शिक्षा और खेल कूद Chapter 4th Class 12th physical Education

दिव्यांगों के लिए शारीरिक शिक्षा और खेल कूद Chapter 4th Class 12th physical Education

अक्षमता का अर्थ (disability) 

  • अक्षमता का अर्थ होता है
  • क्षमता की कमी
  • किसी भी कार्य को
  • सामान्य व्यक्ति की तरह
  • न कर पाना।

अक्षमता के प्रकार

1) संज्ञानात्मक
2) बौद्धिक क्षमता
3) शारीरिक अक्षमता

संज्ञानात्मक अक्षमता (COGNITIVE) 

1) यह मानसिक स्वास्थ्य से
सम्बन्धित एक बीमारी है
2) जिसमे मनुष्य सीखना, याद
रखना
3) तथा छोटी छोटी समस्याओं
को सुलझा नहीं पाता|

बौद्धिक अक्षमता (INTELLECTUAL) 

1) यह एक मानसिक स्वास्थ्य
से सम्बन्धित एक
विकलांगता है इसमें व्यक्ति
अपने दैनिक कार्यों को नहीं
कर पाता|
2) गिनती में परेशानी, पढ़ने
में परेशानी, शब्दों के अर्थ
में परेशानी

शारीरिक अक्षमता (PHYSICAL) 

1) शारीरिक क्षति
2) दैनिक प्रक्रिया करने में असमर्थ
3)अंधापन, आंशिक अंधापन
सुनने में दिक्कत

आक्षमता के कारण 

  • अनुवांशिक
  • दुर्घटना
  • कुपोषण
  • गरीबी
  • संक्रामक बीमारी
  • नाभिकीय दुर्घटना

अक्षमता की प्रकृति NATURE OF DISABILITY 

  • सामाजिक तरस्कार दयाभाद
  • सामाजिक दृष्टिकोण के कारण अभिशाप मानना |
  • समाधान हेतु उसकी विकलांगतो को समाज द्वारा स्वीकार किया जाए
  • सामान्य की तरह व्यवहार किया जाए

विकार की अवधारणा 

  • विकार 
  • विकार का अर्थ है रुकावट |
  • किसी भी प्रकार के विकार में normal होने की
  • संभावना होती है।
  • विकार ज्यादातर तंत्रिका तंत्र से जुड़ा होता है |
  • उदाहरण : ODD, OCD, ASD , ADHD , SPD

अक्षमता 

  • अक्षमता का अर्थ है किसी भी कार्य को करने की क्षमता ना होगा तथा कार्य ना कर पाना
  • किसी प्रकार की अक्षमता में Normal होने की संभावना नहीं रहती
  • अक्षमता शरीर में किसी भी हिस्से में हो सकती है
  • उदाहरण: शारीरिक अक्षमता, बौद्धिक अक्षमता, संज्ञानात्मक अक्षमता


विकार की अवधारणा CONCEPT OF DISORDER 

  • विकार का अर्थ होता है किसी भी सामान्य कामकाज को न कर पाना, और विकार एक रोग है जो कार्य करने की क्षमता में बाधा डालता है।
  • विकार शुरुआत में साधारण समस्या जैसा दिखाई देता है लेकिन धीरे- धीरे इसके परिणाम घातक होने लगते हैं।
  • ADHD
  • SPD
  • ASD
  • ODD
  • OCD

विकार :- 

  • ADHD एक प्रकार का विकार है और यह
  • हमारे मस्तिष्क से जुड़ा एक विकार है
  • जो किसी को भी हो सकता है लेकिन बच्चों
  • को यह विकार होने का खतरा ज्यादा रहता
  • है।

ADHD :-लक्षण

  • ADHD के कारण बच्चो की याददाश्त कमज़ोर हो जाती है और बच्चे हर बात को भूलने
  • लगते हैं।
  • ADHD के कारण बच्चे छोटी छोटी बात पर बेचैन हो जाते हैं |
  • ADHD के कारण बच्चे बहुत ज्यादा बोलने लग जाते हैं और बातें करते रहते हैं।
  • ADHD के कारण युवा चिंता में रहने लगते हैं |

ADHD के कारण

  • अनुवांशिक
  • मस्तिष्क की चोट
  • परिवार का माहौल

विकार:- SPD 

  • SPD हमारे तंत्रिका तंत्र से जुड़ा हुआ एक विकार है |
  • इस विकार में हमारा तंत्रिका तंत्र किसी भी प्रकार की सूचना को प्राप्त नहीं कर पाता |
  • यह विकार बच्चों में ज्यादा पाया जाता है |

SPD :-लक्षण 

  • SPD से ग्रसित व्यक्तियों को normal आवाजें भी बहुत ज्यादा भयानक लगने लगती हैं |
  • SPD से ग्रसित व्यक्तियों को अगर कोई अचानक से TOUCH कर ले तो उन्हें बहुत ज्यादा
  • डर लगने लगता है।
  • SPD से ग्रसित व्यक्ति किसी भी प्रकार की सुगन्ध या आवाज़ के प्रति संवेदनशील
  • (SENSITIVE) हो जाता है |

SPD के कारण

अनुवांशिक
पारिवारिक
गर्भावस्था

पारिवारिक कारण 

  • अगर किसी भी बच्चे का बचपन से अच्छे से पालन पोषण
  • न किया गया हो
  • और तथा बच्चे के साथ बहत सख्ती से बात की जाए तो उस
  • बच्चे को यह विकार हो सकता है |

गर्भावस्था 

  • अगर कोई भी महिला अपनी गर्भावस्था के दौरान मादक पदार्थों का सेवन करती है
  • जैसे : शराब, सिगरेट, तम्बाकू आदि तो
  • उसके कारण उसके होने वाले बच्चे को SPD विकार होने का खतरा बढ़ जाता है |

विकार :-ASD 

ASD एक ऐसा विकार है जिसके कारण व्यक्ति समाज में किसी से भी घुल मिल नहीं
पाता और उसे लोगों के साथ उठने बैठने में हिचक होने लगती है।

ASD :-लक्षण 

  • ASD से ग्रसित व्यक्ति सभी से बात चीत नहीं कर पाता और उसे बातें करने में बहुत
  • समस्या होती है।
  • ASP से ग्रसित व्यक्ति को किसी भी चीज़ को पढ़ने में बहुत मुश्किल होती है तथा वह पढ़
  • या लिख नहीं पाता।
  • ASD से ग्रसित व्यक्ति बहुत बार किसी भी भाषा को समझ नहीं पाता |

ASD के कारण

  • अनुवांशिक
  • जन्म के समय कम Weight 
  • बूढ़े मां बाप

बूढ़े माँ बाप 

  • अगर किसी बच्चे का जन्म बहुत समय बाद होता है
  • और उस बच्चे के माँ बाप बूढ़े होते हैं
  • तो उस बच्चे को ASD विकार होने का खतरा बढ़ जाता है |

विकार ODD

इस विकार से पीड़ित व्यक्ति आक्रमक, विद्रोही तथा दूसरों की बात ना मानने वाली जिद्दी प्रवृत्ति का होता है

ODD :- लक्षण 

  • ODD से ग्रसित व्यक्ति हमेशा लड़ने के लिए तैयार रहता है और हमेशा गुस्से में ही रहता
  • ODD से ग्रसित व्यक्ति हमेशा सभी से बहस करता रहता है और बिना सोचे समझे कुछ भी बोल देता है।
  • ODD से ग्रसित व्यक्ति कभी भी दोस्ती तोड़ देता है |
  • ODD से ग्रसित व्यक्ति किसी की भी बात को नहीं मानता
  • DD से ग्रसित व्यक्ति में आत्मसम्मान (SELF RESPECT ) की कमी होती है

ODD के कारण

  • अनुवांशिक
  • जैविक कारण
  • पारिवारिक कारण

जैविक कारण 

  • यदि किसी भी व्यक्ति के मस्तिष्क पर कोई चोट लगे
  • या फिर मस्तिष्क के रासायनों (CHEMICALS) का संतुलन (BALANCE) बिगड़ जाये
  • तो उस व्यक्ति को ODD विकार हो सकता है ।

पारिवारिक कारण 

  • अगर किसी भी व्यक्ति के जीवन में खुशी न हो
  • तथा उसके परिवार में लड़ाई झगड़े चलते रहें और परिवार की आर्थिक स्थिति ख़राब हो
  • और वह व्यक्ति चिंता में रहने लगे तो उस व्यक्ति को ODD विकार हो सकता है |

विकार OCD 

OCD एक प्रकार का विकार है जिसमें मनुष्य चिंता में रहता है तथा चीजों को दोहराता है

OCD :- लक्षण 

  • DED से ग्रसित व्यक्ति चीज़ों को बार बार जांचता रहता है।
  • OCD से ग्रसित व्यक्ति शब्दों और वाक्यों को बार बार दोहराता रहता है।
  • OCD से ग्रसित व्यक्ति पैसों को बार बार गिनता रहता है।
  • OCD से ग्रसित व्यक्ति बार बार हाथ और मुहं धोता रहता है।
  • OCD से ग्रसित व्यक्ति जरुरत से ज्यादा धार्मिक बन जाता है , जैसे ईश्वर से बार बार प्राथना करना।

OCD के कारण

  • अनुवांशिक
  • वातावरण
  • संक्रमण ( infection )

वातावरण 

  • हमारे आसपास के वातावरण के कारण भी OCD होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • जैसे घर के पास किसी की मृत्यु हो जामा, और स्कूल में परेशान रहना, या फिर दूषित पर्यावरण|

संक्रमण 

  • संक्रमण (INFECTION ) के कारण भी OCD विकार होने की संभावना बढ़ जाती है |
  • जैसे : स्ट्रैपटोकोकस INFECTION से OCD का विकार हो सकता है |

अक्षमता शिष्टाचार- Disability etiquettes

  • किसी भी प्रकार अक्षमता से ग्रस्त व्यक्ति से वार्तालाप और व्यवहार
  • जिससे अक्षम व्यक्ति को सामान्य व्यक्ति से सम्बन्ध स्थापित करने में अच्छा लगे | 
  • अक्षम व्यक्ति के साथ सामान्य व्यक्ति  की तरह व्यवहार करना |  
  • हाथ मिलाना 
  • अपनी तथा अपने साथ वाले व्यक्ति की पहचान दिव्यांग को करना
  • व्हील chair  पर न झुकें 
  • अगर किसी को ठीक से सुनाई नहीं देता तो उससे धीरे बात करें 
  • पीठ या कन्धा थपथपा के दया न दिखाएं 
  • जिसे बोलने में कठिनाई होती है तो उसकी बात को ध्यान से सुने जिससे उसे अच्छा लगे 
  • group में सभी से दिव्यांग व्यक्ति का introduction करवाएं 

दिव्यांग बच्चों के लिए शारीरिक गतिविधियों का निर्धारण करने के लिए रणनीतियां

दिव्यांग बच्चो को special training  की आवश्यकता होती है इसलिए उनके लिए कार्यक्रम तैयार करते समय कुछ बातों को ध्यान में रखा जाता है जो निम्नलिखित है : 
( रणनीतियां )
1- खेल के नियम 
2- देखभाल 
3- medical जांच
4- खेल उपकरण 
5- Best trainer 
( i) खेल के नियम 
दिव्यांग बच्चो को के लिए खेल के नियम आसन होने चहिये ताकि हर दिव्यांग बच्चा उस खेल को अच्छे से खेल पाए | अगर धीरे धीरे बच्चा खेलना सीख जाये तो नियमों में सुधार करना चाहिए |
ii)  देखभाल  
किसी भी प्रकार की शारीरिक क्रिया करवाने से पहले पूरी देखभाल करनी चाहिए की किसी भी प्रकार से किसी बच्चे को चोट न पहुंचे तथा medical staff  की निगरानी में ही उन्हें खिलाना चाहिए |
iii) Medical जांच  
किसी भी दिव्यांग बच्चे को कोई physical activity  करवाने से पहले उसके शरीर के स्वास्थ्य की एक जाँच कर लेनी चाहिए ताकि उस बच्चे को खेलते समय किसी भी प्रकार की समस्या न हो |
iv)  खेल उपकरण    
दिव्यांग बच्चों को खिलते समय उनके खेल के उपकरणों का ध्यान रखना चाहिए तथा उनकी जरुरत के अनुसार ही उपकरण का रंग तथा भार (weight ) तथा आकार होना चाहिए | 
v) Best trainer  ( प्रशिक्षक) 
दिव्यांग बच्चों को शारीरिक क्रियाएं करवाने के लिए best trainer  होना चाहिए तथा trainer  के अन्दर दिव्यांग बच्चों को सिखाने की काबिलियत होनी चाहिए ताकि बच्चे आसानी से सीख सकें | 

VIDEO WATCH

ASK ANY PROBLEM CLICK HERE

What's Your Reaction?

like
101
dislike
16
love
48
funny
15
angry
7
sad
9
wow
43