जनसंख्या वितरण, घनत्व, वृद्धि एवं संगठन ( भूगोल) Book -2 Chapter-1st Geography Class 12th ( Population: distribution, density, growth and composition ) Notes in Hindi

जनसंख्या वितरण, घनत्व, वृद्धि एवं संगठन ( भूगोल) Book -2 Chapter-1st Geography Class 12th ( Population: distribution, density, growth and composition ) Notes in Hindi

इस अध्याय में हम जनसँख्या वितरण और घनत्व के बारे में पढ़ने वाले हैं।
इसमें हम जनसँख्या वृद्धि के बारे में पढेगे
इसमें हम जानेगे की भारत के किस राज्य में जनसँख्या अधिक है एवं किस में कम

1- भारत में पहली जनगणना : 1872
2- भारत में पहली संपूर्ण जनगणना : 1881
3- 1881 में पहली बार संपूर्ण जनगणना हुई जिसमें
4- भारत में रहने पाले सभी लोग शामिल थे
5- 188। के बाद से हर 10 साल बाद जनगणना
होती है

जनसँख्या वितरण

अर्थ- किसी क्षेत्र पर लोगो का फैलाव जनसँख्या वितरण कहलाता है।
1- भौतिक कारक
जल
जलवायु
भू-आकृति
2- आर्थिक कारक
औद्योगीकरण
नगरीकरण
खनिज

जनसंख्या वितरण को प्रभावित करने वाले कारक

जल
जल जनसंख्या वितरण को प्रभावित करने 
वाला महत्पपूर्ण करक है ,क्योंकि जल
हमारे शरीर तथा हमारे रोज के कार्यो 
के लिए बहुत जरूरी होता है।
जेसे- नहाना, कपड़े धोना आदि
ii. जलवायु
जलवायु जनसंख्या वितरण को प्रभावित करने
वाला महत्पपूर्ण कारक है, क्योंकी  लोग
ज्यादातर उसी स्थानों पर रहते हैं, जहां ज्यादा 
जलवायु परिवर्तन नहीं होते
जैसे - रेगिस्तान में कम तथा मैदानों में अधिक
जनसँख्या

भू आकृति
किसी भी जगह की भू आकृति जनसंख्या को रहने के लिए प्रभावित करती है क्योंकि लोग टेढ़ी-मेढ़ी तथा पहाड़ी जगहों के बजाय समतल मैदानों पर रहना अधिक पसंद करते हैं क्योंकि समतल जगह पर सड़क निर्माण आदि कार्य आसान होते हैं
मृदा
मृदा जनसंख्या वितरण को प्रभावित करने वाला एक महत्वपूर्ण कारक है क्योंकि लोग उपजाऊ मृदा वाले क्षेत्रों में रहना पसंद करते हैं जहां खेती अच्छी होती है

आर्थिक कारक

औद्योगिकरण
औद्योगिकरण जनसंख्या वितरण को प्रभावित करने वाला महत्वपूर्ण कारक है क्योंकि और औद्योगिकरण से उद्योग की स्थापना होती इससे रोजगार के अवसर उपलब्ध होते हैं और लोग काम की तलाश में आते हैं
नवीकरणीय/ शहरीकरण
लोग ज्यादातर शहरों में रहना पसंद करते क्योंकि शहरों में ट्रांसपोर्ट सेवाएं शिक्षा तथा स्वास्थ्य सेवाएं अच्छी होती है
खनिज
जिन क्षेत्रों में खनिज अधिक मात्रा में पाए जाते हैं वहां लोग ज्यादा आकर्षित होते हैं क्योंकि जहां खनिज ज्यादा होते हैं वहां खुदाई कार्य की मांग होती और लोग काम की तलाश में आते हैं

जनसंख्या घनत्व

प्रत्येक किलोमीटर में पाए जाने वाले व्यक्तियों की संख्या को जनसंख्या घनत्व कहते हैं
भारत का जनसंख्या घनत्व 383 व्यक्ति वर्ग प्रति किलोमीटर है
सबसे अधिक जनसंख्या घनत्व वाला राज्य- बिहार
सबसे कम जनसंख्या घनत्व वाला राज्य- अरुणाचल प्रदेश
मध्यम घनत्व वाले राज्य- गुजरात, आंध्र प्रदेश, असम

जनसंख्या वृद्धि की अवस्थाएं

1] 1901-1921
2] 1921-1951
3] 1951-1981
4] 1981 से आज तक

प्रावस्था- 1 (1901- 1921)

इसे जनसंख्या वृद्धि की स्थिर अवस्था कहा जाता है
क्योंकि इस समय वृद्धि बहुत धीमी हुई थी
स्वास्थ्य सेवाएं तथा शिक्षा सेवाएं बहुत खराब थी इसलिए जनसंख्या बढ़ भी रही थी परंतु स्वास्थ्य खराब होने के कारण मर भी रही थी

प्रावस्था- 2 (1921-51)

इसे जनसंख्या की स्थिर वृद्धि के रूप में जाना जाता है क्योंकि इस काल में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार आया देश में मृत्यु दर कम हुई

प्रावस्था - 3 ( 1951-81 )

इस काल को जनसंख्या विस्फोट के रूप में जाना जाता है
इस काल में मृत्यु दर कम हुई तथा जन्म दर बढ़ी
इस काल में नेपाल, बांग्लादेश, पाकिस्तान तथा तिब्बती शरणार्थियों ने भी जनसंख्या बढ़ा दी

प्रावस्था 4 ( 1981 से आज तक )

1981 के बाद से जन्म दर में कमी आने लगी क्योंकि लोग अब पढ़ने लगे तथा परिवार का नियोजन करने लगे और स्त्रियों की विवाह की आयु तथा स्त्री शिक्षा भी बढ़ी है

More important facts

1- मुख्य श्रमिक- वे श्रमिक जो कम से कम 183 दिन काम करते हैं
2- सीमांत श्रमिक - वे श्रमिक जो कम से कम 183 दिनों से भी कम दिन कार्य करते हैं
3- निम्न वृद्धि दर वाले राज्य- केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा
4- उच्च वृद्धि दर-  वाले राज्य- उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल

VIDEO WATCH

ASK ANY PROBELM CLICK HERE

What's Your Reaction?

like
338
dislike
45
love
117
funny
45
angry
32
sad
40
wow
101